November 28, 2022

4.3 करोड़ लाभार्थियों ने एक बार भी नहीं भरवाया सिलेंडर, संसद में पेश किए गए आंकड़े

नई दिल्ली- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा देश की गरीब परिवार की महिलाओं के लिए शुरू की गई उज्जवला योजना (Ujjwala Yojana) को लेकर ससंद (Parliament) में आंकड़ें पेश किए गए. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्यमंत्री रामेश्वर तेली ने राज्यसभा (Rajya Sabha) में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि उज्जवला योजना के 4.13 करोड़ लाभार्थियों ने एक बार भी रसोई गैस सिलेंडर को रिफिल नहीं करवाया है. वहीं, इस योजना के तहत 7.67 करोड़ लाभार्थियों ने केवल एक ही बार सिलेंडर रिफिल करवाया है.

दरअसल, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Congress Leader Mallikarjun Kharge) ने सरकार से उज्जवला योजना के लाभार्थियों से जुड़ी जानकारी मांगी थी. जिसके जवाब में रामेश्वर तेली ने बताया कि साल 2017-18 के बीच 46 लाख उज्जवला योजना के लाभार्थियों ने एक भी सिलेंडर नहीं भरवाया. वहीं, 1.19 करोड़ लाभार्थियों ने केवल एक ही बार सिलेंडर रिफिल करवाया है. रामेश्वर तेली ने राज्यसभा में लिखित जवाब में बताया कि 2018-19 के बीच 1.24 करोड़, 2019-20 के दौरान 1.14 करोड़, 2020-21 के दौरान 10 लाख और 2021-22 के दौरान 92 लाख लाभार्थियों ने एक बार भी सिलेंडर रिफिल नहीं करवाया.

केवल एक बार सिलेंडर रिफिल कराने वाले आंकड़े
केंद्रीय मंत्री ने बताया कि साल 2018-19 के दौरान 2.90 करोड़, 2019-20 के दौरान 1.83 करोड़, 2020-21 के दौरान 67 लाख और 2021-22 के दौरान 1.08 करोड़ उज्जवला योजना के लाभार्थियों ने केवल एक ही बार सिलेंडर रिफिल कराया. केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली ने बताया कि साल 2021-22 के दौरान कुल 30.53 करोड़ घरेलू गैस उपभोक्ताओं में से 2.11 करोड़ उपभोक्ताओं ने एक बार भी गैस सिलेंडर रिफिल नहीं कराया है. वहीं, एक बार गैस सिलेंडर रिफिल कराने वालों का आंकड़ा 2.91 करोड़ रहा.

क्या है उज्जवला योजना
केंद्र सरकार ने उज्जवला योजना के तहत पूरे देश में 9 करोड़ मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन बांटे हैं. उज्जवला योजना के तहत लाभार्थी को एलपीजी सिलेंडर सब्सिडी के रूप में महज 200 रुपये की दर से दिए जाने की योजना है. सरकार ने इस योजना के तहत लाभार्थियों को साल के 12 सिलेंडर पर सब्सिडी देने का ऐलान किया था.