August 10, 2022

भाजपा के मंत्री-सांसद ने की फटे तिरंगे की प्रदर्शनी, बीजेपी कार्यालय में हुआ राष्ट्रीय ध्वज का अपमान

सतना- मध्य प्रदेश के सतना में राष्ट्रीय ध्वज संहिता के उल्लंघन का मामला सामने आया है। यहां बीजेपी दफ्तर में सरेआम न सिर्फ मानकों के विपरीत तिरंगे की प्रदर्शनी की गई, बल्कि बीजेपी सांसद द्वारा अमानक तिरंगे की तस्वीर को सोशल मीडिया पर प्रचारित भी किया गया। मामले में कांग्रेस ने तल्ख टिप्पणी करते हुए तिरंगे का अपमान करने वाले बीजेपी सांसद और मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

दरअसल, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा के निर्देशानुसार सभी जिलों में तिरंगा विक्रय केंद्र खोले जा रहे हैं। इसी क्रम में गुरुवार को सतना सांसद गणेश सिंह और कैबिनेट मंत्री रामखेलवान पटेल की मौजूदगी में सतना बीजेपी कार्यालय में भी तिरंगा विक्रय केंद्र का उद्घाटन किया गया। जानकारी के मुताबिक, इस दौरान 25 रुपए प्रति झंडे के हिसाब से सांसद सिंह ने 4 जबकि, मंत्री पटेल ने 8 झंडे खरीदे।

हालांकि, यहां अधिकांश झंडे मानकों के विपरीत बेचे जा रहे थे। किसी झंडे का आकार गड़बड़ था तो किसी का चक्र गोलाकार न होकर अंडाकार था। किसी झंडे में चक्र बीच में न होकर किनारे पर था। इसके अलावा कई ध्वज किनारे से फटे भी थे। इनमें अधिकांश ध्वज 3:2 के अनुपात में नहीं थे। ध्वज संहिता के विपरीत इन झंडों को इस तरह लोगों के बीच वितरण करने को लेकर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं।

इंदौर हाईकोर्ट के वकील जयस गुरनानी ने बताया कि तिरंगे के साथ छेड़छाड़ करना एक गंभीर अपराध है। उन्होंने कहा कि, ‘भारतीय ध्वज आचार संहिता 2002 व राष्ट्र गौरव अपमान निवारण अधिनियम 1971 की धारा-2 के तहत तिरंगे के साथ छेड़छाड़ करने पर 3 वर्ष की सजा व जुर्माने का प्रावधान है या फिर दोनों ही हो सकते हैं।’

मामला सामने आने के बाद विपक्षी दल कांग्रेस की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस प्रवक्ता आनंद जाट ने कहा कि, ‘राष्ट्रीय ध्वज हमारे देश के सम्मान का प्रतीक है और इसका सत्कार करना हम सभी का कर्तव्य है। परंतु देखने में आया है कि भाजपा कार्यालय में मंत्री-सांसद राष्ट्रीय ध्वज का अनादर कर रहे हैं। देश के नागरिक तिरंगे को इसलिए खरीदते हैं क्योंकि वे भारत से प्यार करते हैं। लेकिन बीजेपी और आरएसएस के लोग जो दशकों तक तिरंगे को कभी राष्ट्रीय ध्वज के रूप में स्वीकार नहीं करते थे वे अब तिरंगे का अपमान करने पर उतारू हैं। यह बर्दाश्त से बाहर है। राष्ट्रीय गौरव का अपमान करने वाले भाजपा नेताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’