December 7, 2022

बारिश का कहर, ग्वालियर-चंबल में उफनाए नदी-नाले

इंदौर- मध्यप्रदेश में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। 24 घंटे में ग्वालियर में सबसे ज्यादा 4 इंच पानी गिरा। श्योपुर में नदी-नाले उफना गए। विजयपुर (श्योपुर) शिवपुरी और ग्वालियर से जोड़ने वाले स्टेट हाईवे स्थित जंगल के नाले पर बने पटपढ़ा और चंदेली रपटे डूब गए। विजयपुर का शिवपुरी और ग्वालियर से संपर्क कट गया है। रविवार देर रात तक यहां तीन फीट पानी था। चंदेली रपटे को पार करने के प्रयास में बाइक समेत सवार बहने से बाल-बाल बचे। भिंड के मौ कस्बे में सर्किट हाउस पर झिलमिल नदी का पानी पुराने पुल के ऊपर बह रहा है। मौ-मेहगांव रोड पर ट्रैफिक बंद हो गया।

इंदौर में रविवार को एक बड़ा हादसा होने से टल गया। यहां ओखलेश्वर धाम के पास सुकड़ी नदी में पिकनिक मना रहे लोगों की 13 लग्जरी कारें बाढ़ में फंस गईं। मौके पर पहुंची पुलिस और ग्रामीणों ने रेस्क्यू कर चार कारों को निकाल लिया, लेकिन 5 कार आधा किमी दूर बहती चली गईं, जिन्हें निकालने का काम देर रात तक चलता रहा। बाकी 8 कारों को ट्रैक्टर की मदद से देर रात बाहर निकाल लिया गया।

बैतूल और पचमढ़ी में हो रही अच्छी बारिश की वजह से तवा डैम के 13 में से 7 गेट खोलकर 54565 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। सुबह 9 बजे से पहले डैम के 3 गेट तीन-तीन फीट तक खोले गए थे, इसके बाद 4 गेट और खोल दिए गए। उधर, तेज बारिश के बीच बिजली गिरने से प्रदेश में दो दिन में 7 लोगों की मौत हो गई। विदिशा में 4 तो सतना में 3 लोगों की जान चली गई। भोपाल, बैतूल, इंदौर, दमोह, मंडला, सागर और सतना में भी कहीं-कहीं बारिश हुई।

औबेदुल्लागंज-नागपुर हाईवे फिर हुआ बंद
सुखतवा नदी में बाढ़ आने से औबेदुल्लागंज-नागपुर नेशनल हाईवे-69 डेढ़ घंटे बंद रहा। हाईवे पर सुबह 8 पानी आ गया था। 9.30 बजे तक पानी उतर गया। इसके बाद यहां ट्रैफिक चालू हुआ। सुखतवा नदी का पुल कुछ महीने पहले क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके बाद यहां अस्थायी पुल बनाया गया है। इस पुल पर बाढ़ का पानी आ जाता है। इस सीजन में पुल पर 8 बार ट्रैफिक बंद हो चुका है।

24 घंटे में कहां-कितनी बारिश
पिछले 24 घंटे के दौरान पचमढ़ी में 4 इंच, सीधी में 2 इंच, बैतूल में 1.5 इंच बारिश हुई। रतलाम, उज्जैन, ग्वालियर, मलाजखंड, सतना, इंदौर और नौगांव में आधा-आधा इंच पानी गिरा। दतिया, नरसिंहपुर, खंडवा, जबलपुर, शिवपुरी, खजुराहो, उमरिया, सागर, गुना और नर्मदापुरम में भी बारिश हुई।

आगे क्या…
मौसम विभाग के अनुसार दो दिन बाद प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। भोपाल में 4 दिन और इंदौर में 2 दिन बाद भारी बारिश का अलर्ट है। हालांकि, अभी हल्की से मध्यम बारिश होती रहेगी। रायसेन और सीहोर में कल अच्छी बारिश हो सकती है। उमरिया, अनूपपुर, शहडोल, डिंडोरी, कटनी, छिंदवाड़ा, जबलपुर, नरसिंहपुर, मंडला और सिवनी में मंगलवार से जमकर बारिश होने की संभावना है।