November 28, 2022

CM गहलोत और दिग्विजय सिंह की संयुक्त वार्ता, बोले- नफरत, तनाव, हिंसा… पूरा देश चिंतित है

नई दिल्ली- राहुल गांधी के नेतृत्व में शुरू हो रहे कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर देशभर में उत्सुकता है। नागरिक समूह इस यात्रा में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। यात्रा को मिल रहे आपार जनसमर्थन को देखते हुए कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता भी उत्साहित हैं। यात्रा शुरू होने से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने अहम प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान सिंह ने मुख्य रूप से यात्रा के स्वरूप को लेकर अपनी बातें रखी वहीं गहलोत ने इसका महत्व बताया।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि, ‘ये ऐतिहासिक यात्रा जो प्रारंभ हो रही है इसका महत्व पूरा देश समझ रहा है। आजादी के बाद देश में पहली बार नफरत, तनाव और हिंसा का माहौल है। पूरा देश चिंतित है। हम प्रधानमंत्री से अपील कर रहे थे कि आप देशवासियों से अपील करें कि पूरे देश में प्रेम, भाईचारा, सद्भावना होनी चाहिए। और मैं किसी कीमत पर हिंसा को बर्दाश्त नहीं करूंगा। लेकिन आज तक उन्होंने ये बात नही कही है।’

गहलोत ने आगे कहा कि, ‘देश के भीतर ध्रुवीकरण इतना ज्यादा हो चुका है… जातियों और धर्म के नाम पर इतनी नफरत पैदा हो गई है कि अगर इस देश को नही संभाला गया तो ये गृहयुद्ध की तरफ जा सकता है। महंगाई, बेरोजगारी को लेकर पूरा देश चिंतित है, महंगाई की मार लोगों की कमर तोड़ चुकी है, भगवान नरेंद्र मोदी और अमित शाह दोनों को सद्बुद्धि दें क्योंकि ये दोनों ही देश चला रहे हैं।’

अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर गहलोत ने बड़ा बयान देते हुए कहा, ‘आज भी कांग्रेस के लोग ये भावना रखते हैं कि राहुल गांधी जी को कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहिए। आज देश के सामने बड़ी-बड़ी चुनौतियां हैं। राहुल गांधी अध्यक्ष बनते हैं तो उन चुनौतियां का मुकाबला करने में आसानी रहेगी।’ बता दें कि इससे पहले वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी कह चुके हैं कि कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता चाहते हैं कि राहुल गांधी ही अध्यक्ष बनें। लेकिन उन्हें फोर्स करना भी उचित नहीं है।

कन्याकुमारी में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने बताया कि इस भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी पूरे समय चलेंगे। चुनावी रैली के दौरान राहुल गांधी की व्यस्तता के सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि चुनावी राज्यों में अगर आवश्यकता महसूस हुई तो वहां राहुल गांधी चुनाव प्रचार के लिए जा सकते हैं। लेकिन इस दौरान यात्रा वहां पर 1-2 दिन के लिए रुकेगी। जब राहुल आएंगे तो फिर यात्रा आगे बढ़ेगी।

उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा कि आवश्यकता को लेकर कहा कि क्या देश में अमीर गरीब के बीच में खाई नहीं बढ़ रही है? क्या विभिन्न धर्मों के लोगों में एक नफरत नहीं पैदा की जा रही है? क्या भारतीय संविधान के मूल स्वरूप पर प्रहार नही हो रहे हैं? सिंह ने कहा कि यह यात्रा देश के लोगों के लिए ही हो रही है।