November 29, 2022

राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के लिए झारखंड कांग्रेस में भी प्रस्ताव हुआ पास

नई दिल्ली- राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर जोर-शोर से मांग उठने लगी है. अब झारखंड कांग्रेस (Jharkhand Congres) ने भी राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को पार्टी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया है. गुजरात, राजस्थान समेत कांग्रेस की कई राज्य इकाइयों ने पहले ही राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने को लेकर प्रस्ताव पास कर दिया है.

बीते दिन ही जम्मू कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी, तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी और महाराष्ट्र कांग्रेस के द्वारा राहुल गांधी को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव पारित किया था. इससे पहले गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान की प्रदेश कांग्रेस कमेटी राहुल गांधी से नेतृत्व करने का आग्रह करते हुए प्रस्ताव पास कर चुकी हैं. कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव से जुड़ी हलचल के बीच पार्टी के संगठन महासचिव के. सी. वेणुगोपाल ने मंगलवार को सोनिया गांधी से मुलाकात की है.

के. सी. वेणुगोपाल ने भी की सोनिया गांधी से मुलाकात

सूत्रों का कहना है कि वेणुगोपाल की सोनिया से मुलाकात के दौरान संगठन से जुड़े मामलों और चुनाव से जुड़े कुछ मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है. वेणुगोपाल पिछले कई दिनों से भारत जोड़ो यात्रा में शामिल थे और आज यहां 10 जनपथ पर सोनिया से मिले. यह मुलाकात उस वक्त हुई है, जब देश की सबसे पुरानी पार्टी के सर्वोच्च पद के लिए दो दशक बाद चुनावी मुकाबला होने की संभावना बढ़ गई है.

शशि थरूर भी लड़ सकते हैं चुनाव

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने सोमवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर चुनाव लड़ने की अपनी इच्छा से अवगत कराया था, तो दूसरी तरफ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी चुनावी रण में उतरने की संभावना के संकेत मिल रहे हैं. कुछ अन्य लोगों के भी चुनाव लड़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

ऐसे प्रस्ताव से चुनाव पर होगा असर?

वहीं प्रदेश कांग्रेस समितियों द्वारा राहुल गांधी को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किए जाने के बीच पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने मंगलवार को कहा कि प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी को पार्टी का नेतृत्व करने की मांग की बाध्यकारी नहीं है. इस संकेत के बीच कि कांग्रेस नेता शशि थरूर पार्टी के अध्यक्ष पद चुनाव में लड़ेंगे, इस पर जयराम रमेश ने कहा कि कोई भी व्यक्ति इस पद के लिए चुनाव लड़ सकता है, लेकिन वो व्यक्तिगत रूप से मानते हैं कि एक उम्मीदवार पर आम सहमति बन जाए.

“राहुल को लेकर कांग्रेसी उत्साहित हैं”

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेसी उत्साहित हैं क्योंकि वे पिछले 13 दिनों से राहुल गांधी को यात्रा करते हुए देख रहे हैं, लेकिन किसी ने किसी को प्रस्ताव पारित करने के लिए नहीं कहा है. कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता उत्साहित हैं. राहुल गांधी ने किसी को कोई प्रस्ताव पारित करने के लिए नहीं कहा है. कांग्रेस अध्यक्ष ने भी किसी से कुछ नहीं कहा है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी चुनाव लड़ेंगे या नहीं, यह 24 से 30 तारीख के बीच पता चलेगा.

“कोई भी चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र”

उन्होंने कहा कि कोई भी चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है. यह एक खुली प्रक्रिया है. आपको राहुल गांधी या सोनिया गांधी से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं है. यदि आपके पास 10 पीसीसी प्रतिनिधियों का समर्थन है, तो आप नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं और चुनाव 17 अक्टूबर को होगा. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने ये भी कहा कि अगर कोई नामांकन नहीं होता है और उम्मीदवार पर आम सहमति बन जाती है, तो 1 अक्टूबर को नए अध्यक्ष की घोषणा की जाएगी.

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव (Congress President Election) के लिए अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी और नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक चलेगी. नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि आठ अक्टूबर है. एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किये जाएंगे.