November 29, 2022

29 में से एक भी विधायक को चुनाव नहीं जीतने देंगे, पाला बदलने वाले MLAs को हराने के लिए कमलनाथ ने झोंकी ताकत

भोपाल- मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस मिशन मोड पर काम कर रही है। पीसीसी चीफ कमलनाथ इस बार सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त नजर आ रहे हैं। इसी चुनाव में सरकार बनाने के अलावा कांग्रेस पदाधिकारियों ने एक और प्रतिज्ञा ली है। वह ये कि पाला बदलने वाले 29 में से एक भी विधायक को चुनाव नहीं जीतने देंगे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक उन विधानसभा क्षेत्रों पर कांग्रेस विशेष फोकस करेगी, जिनके कारण उन्हें सत्ता गंवानी पड़ी थी। इस फेरबदल में कांग्रेस को अपनों से ही चोट मिली थी। इन दगाबाजों को सबक सिखाने की तैयारियां पूरी हो गई है। कमलनाथ ने कांग्रेस पदाधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि किसी भी कीमत पर एक भी बागी चुनाव न जीत पाए।

गुरुवार को बड़ामलहरा से इसकी शुरुआत हो गई जहां कमलनाथ ने मंड़लम्-सेक्टर और बूथ कमेटियों की बैठक ली। इसके बाद एक जनसभा को भी संबोधित किया। लोधी समाज बाहुल्य बड़ामलहरा विधानसभा से साल 2018 में कांग्रेस के टिकट पर प्रद्युम्न सिंह लोधी चुनाव जीते थे। हालांकि वे मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद बीजेपी में शामिल हो गए थे। आज यहीं से कमलनाथ कांग्रेस का साथ छोड़ने वाले विधायकों को अगले चुनाव में पटखनी देने का शंखनाद करेंगे।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ बीजेपी में शामिल हुए 22 विधायकों के बाद से अब तक कुल 29 विधायक BJP जॉइन कर चुके हैं। इनमें तीन सपा व अन्य पार्टियों से हैं। बताया जा रहा है कि कमलनाथ विशेषकर 26 विधानसभा की सीटें जीतने के लिए खास रणनीति बना रहे हैं। दलबदल के बाद कांग्रेस पदाधिकारी स्थानीय विधायकों को लेकर जनता को जागरूक करने के काम में लगे हुए हैं।