November 28, 2022

पतंजलि की पांच दवाओं पर लगा बैन, कंपनी बोली- ये आयुर्वेद विरोधी ड्रग माफिया का काम

भोपाल- विवादित योग गुरु रामदेव की दवा कंपनी दिव्या फार्मेसी की पांच दवाओं के प्रोडेक्शन पर उत्तराखंड सरकार ने बैन लगा दिया है। सरकार ने भ्रामक प्रचार करने के आरोप में इन्हें प्रतिबंधित किया है। मामला सामने आने के बाद कंपनी ने कहा है कि इसमें आयुर्वेद विरोधी ड्रग माफियाओं का हाथ है।

कंपनी द्वारा जारी किए गए एक बयान में कहा गया है, ‘पतंजलि द्वारा बनाए गए सभी उत्पादों और दवाओं को 500 से अधिक वैज्ञानिकों की मदद से आयुर्वेद परंपरा में उच्चतम अनुसंधान और गुणवत्ता के साथ सभी वैधानिक प्रक्रियाओं और अंतरराष्ट्रीय मानकों को पूरा करते हुए निर्धारित मानकों का पालन किया जाता है। आयुर्वेद और यूनानी सेवा उत्तराखंड द्वारा प्रायोजित तरीके से 09.11.2022 को जो पत्र षडयंत्रपूर्वक लिखा और प्रसारित किया गया था वह अब तक किसी भी रूप में पतंजलि संस्थान को उपलब्ध नहीं कराया गया है।’

कंपनी ने आगे कहा, ‘या तो विभाग अपनी गलती सुधार कर इस साजिश में शामिल व्यक्ति के खिलाफ उचित कार्रवाई करे, अन्यथा इस साजिश के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को दंडित करने के साथ-साथ पतंजलि को हुए संस्थागत नुकसान की भरपाई के लिए संगठन कानूनी कार्रवाई करेगा।’

दरअसल, गुरुवार को कई अखबारों की रिपोर्ट में कहा गया था कि उत्तराखंड प्राधिकरण ने रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद को उन पांच उत्पादों का निर्माण बंद करने के लिए कहा था। इन पांच उत्पादों को कंपनी ने ब्लड प्रेशर, शुगर,घेंघा, ग्लूकोमा और उच्च कोलेस्ट्रॉल के इलाज के रूप में प्रचारित किया है।