November 29, 2022

कल पटना जाएंगे दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश, बिहार में भारत जोड़ो उपयात्रा की तैयारियां पूरी

भोपाल- कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को दक्षिण के राज्यों में भरपूर समर्थन मिला। यात्रा अब महाराष्ट्र के रास्ते मध्य प्रदेश की ओर बढ़ रही है। जिन राज्यों से होकर यात्रा नहीं गुजरी है, वहां कांग्रेस कार्यकर्ता उपयात्राएं निकाल रहे हैं। बिहार में 1200 किलोमीटर की उपयात्रा निकालने की तैयारी है। इसके लिए भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के प्रमुख दिग्विजय सिंह और कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख जयराम रमेश रविवार को पटना जाएंगे।

पटना स्थित सदाकत आश्रम (पार्टी मुख्यालय) में कांग्रेस के दोनों दिग्गज नेताओं के जोरदार स्वागत की तैयारियां की गई है। जानकारी के मुताबिक यहां दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश कार्यकर्ताओं से बिहार में भारत जोड़ो यात्रा के प्रारूप गठन को लेकर चर्चा करेंगे। बिहार प्रदेश कांग्रेस मीडिया कमेटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने कहा कि इस दौरे को लेकर बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास शनिवार को ही पटना पहुंच गए हैं।

राठौड़ ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कार्यालय सदाकत आश्रम में बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के भारत जोड़ो आंदोलन से जुड़े सभी जिला को-ऑर्डिनेटर, ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर समेत सभी सांसद-पूर्व सांसद विधायक-पूर्व विधायक, पार्टी के सभी जिलाध्यक्ष, संगठन के तमाम पदाधिकारियों के साथ बिहार में यात्रा के संदर्भ को लेकर विचार विमर्श करेंगे।

दरअसल, बिहार में 1200 किलोमीटर की पदयात्रा निकाली जा रही है। 50 दिनों की यह यात्रा बांका जिले जिले से शुरू होकर गया पहुंचेगी। बांका जिले में मंदार पर्वत से यह यात्रा शुरू होगी। माना जाता है कि समुद्र मंथन के लिए देवताओं ने मंदार पर्वत का ही इस्तेमाल किया था। धार्मिक महत्व के कारण बांका से यात्रा शुरू होगी। वहीं, मोक्ष की धरती गया में यात्रा का समापन होगा।

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश के पटना जाने का उद्देश्य बिहार कांग्रेस के प्लान पर विचार करना है। यहां कांग्रेस के दोनों सीनियर नेता कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए अब तक की यात्रा की सफलता के बारे में सबको बताएंगे। बता दें कि जिन राज्यों में मुख्य यात्रा नहीं जा रही है उन सभी राज्यों में ऐसी उपयात्राएँ निकाली जा रही हैं। ये सभी यात्राओं भारत जोड़ो यात्रा की समाप्ति से पहले ख़त्म होंगी। संभावना है कि भारत जोड़ो मुख्य यात्रा फ़रवरी के पहले हफ़्ते में समाप्त होगी।