November 28, 2022

MP कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं ने की राहुल गांधी से मुलाकात, एकजुटता के साथ यात्रा को ताकत देने का संकल्प

भोपाल- मध्य प्रदेश कांग्रेस के सभी सीनियर नेताओं ने बुधवार को मालेगांव में राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने एकजुटता के साथ यात्रा को सफल बनाने का संकल्प लिया। राहुल के साथ मुलाकात के बाद यात्रा के शेड्यूल में भी परिवर्तन हुआ है। अब 20 नवंबर के बजाए 23 नवंबर को यात्रा मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी।

दरअसल, राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस के सभी सीनियर नेताओं को मीटिंग के लिए मालेगांव बुलाया था। बुधवार को राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह और एमपी कांग्रेस चीफ कमलनाथ की मौजूदगी में पार्टी नेताओं से बातचीत की।

राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं से कहा कि सभी को एकजुटता के साथ यात्रा को ताकत प्रदान करें। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, कांतिलाल भूरिया, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह राहुल, सुरेश पचौरी और संगठन प्रभारी जेपी अग्रवाल भी मौजूद थे। बैठक के बाद मध्य प्रदेश में यात्रा के प्रवेश के शेड्यूल में भी बदलाव का निर्णय लिया गया।

दरअसल, पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 20 नवंबर की शाम यात्रा बुरहानपुर के रास्ते मध्य प्रदेश में प्रवेश करने वाली थी। प्रदेश कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी के स्वागत की सारी तैयारियां भी कर ली गई थी। लेकिन 22 नवंबर को राहुल गांधी का गुजरात दौरा फाइनल होने के कारण 21 और 22 नवंबर को यात्रा का रेस्ट घोषित करना पड़ा। प्रदेश में यात्रा प्रवेश करते ही शुरुआती दो दिनों का ब्रेक न हो इसलिए अब यात्रा डायरेक्ट 23 को ही एमपी में प्रवेश करेगी। यानी 21 और 22 का ब्रेक महाराष्ट्र में ही होगा।

यात्रा के बाकी शेड्यूल में फिलहाल कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। 23 सितंबर को यात्रा राज्य में प्रवेश करेगी वहीं 5 दिसंबर तक रहेगी। 5 कि शाम यात्रा आगर से होते हुए राजस्थान में प्रवेश करेगी। 29 नवंबर को रेस्ट डे रहेगा। इस दौरान भारत यात्री इंदौर के खालसा मैदान में रुकेंगे। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए भारत जोड़ो यात्रा को बेहद अहम माना जा रहा है।

मध्य प्रदेश में राहुल गांधी संविधान निर्माता बाबा साहब अम्बेडकर की जनस्थली महू जाएंगे। यहां वे एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। इसके अलावा बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में भी राहुल गांधी की जनसभा प्रस्तावित है। यात्रा को लेकर मध्य प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ता से लेकर आम नागरिक भी बेहद उत्साहित हैं। यात्रा के उपरांत प्रदेश कांग्रेस नेताओं पर इस उत्साह को बनाए रखने की चुनौती होगी।