November 29, 2022

भारत जोड़ो यात्रा को मिला संत समाज का समर्थन, महामंडलेश्वर बोले- नफरत फैलाना बंद करे आरएसएस

खरगोन- मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा का आज तीसरा दिन है। राज्य में कांग्रेस की इस यात्रा को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। शुक्रवार को संत समाज के लोग भी राहुल गांधी के साथ सड़कों पर नजर आए। इस दौरान महामंडलेश्वर बाल योगी लक्ष्मण दास ने कहा कि आरएसएस का काम नफरत फैलाना है।

अमरकंटक में नर्मदा उद्गम स्थल पर बरखानी आश्रम के महामंडलेश्वर बाल योगी लक्ष्मण दास भी मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा के हिस्सा हैं। वह पहले दिन से यात्रियों के साथ पैदल चल रहे हैं। राजनीतिक दल द्वारा आयोजित इस यात्रा में धर्माचार्यों के शामिल होने को लेकर उन्होंने कहा कि, ‘देश का माहौल कट्टरवाद की ओर जा रहा है, कट्टर सोच बढ़ रही है, हम साधु-संत उसके विरोधी हैं।’

महामंडलेश्वर ने कहा कि, ‘राहुल गांधी के इस यात्रा की सोच स्पष्ट है। देश कट्टरवादी ताकतों को खत्म किया जाए और सौहार्दपूर्ण माहौल बनाया जाए ताकि देश की उन्नति हो। धर्म के मामले धर्मगुरुओं पर छोड़ देना चाहिए। धर्म की रक्षा धर्माचार्य करते हैं, ये आरएसएस का काम नहीं है। उसके लिए अखाड़ा परिषद है जो सारे साधु-संत का नेतृत्व करता है। धर्म का ठेकेदार आरएसएस के लोग नहीं बन सकते। धर्म के रक्षक साधु संत हैं।’

महामंडलेश्वर बाल योगी लक्ष्मण ने आगे कहा कि, ‘भाजपा सरकार देश की आवश्यकता पर विचार करे और उसपर काम करे। धर्म, जात, संप्रदाय सामाजिक मामला है। इसे समाज पर छोड़ दें। सरकार का काम है देश की आवश्यकताओं पर काम करना। शिक्षा और स्वास्थ्य पर सरकार का कोई ध्यान नहीं है।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘हम सनातन धर्म की बात करते हैं, जब से श्रृष्टि की रचना हुई है भारत धर्म की भूमि है। हम धर्म में आचरण की बात करते है। हिंदू धर्म जीवनचर्या है। आचरण वाली जीवनचर्या को हिंदू धर्म बोलते है। धर्म हमें बताती है कि हमारी कार्यपद्धति कैसी होनी चाहिए। धर्म नफरत करना नहीं सिखाती है। संत समाज देश जोड़ने की विचारधारा के साथ है।’