February 26, 2024

कमल हासन बोले- राहुल गाँधी आप आंसुओं और खून से भरी हुई राह पर चल रहे हैं

नई दिल्ली- कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दिल्ली चरण के दौरान कमल हासन भी शामिल हुए थे। दिल्ली की यात्रा के लगभग एक हफ्ते बाद मशहूर एक्टर और मक्कल निधि मय्यम (MNM) के चीफ कमल हासन ने राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने राहुल से कहा कि आप जिस रास्ते पर चल रहे हैं, उस पर खून और पसीना है।

राहुल ने कमल हासन से पूछा कि देश में जो चल रहा है, उस पर आप क्या सोचते हैं। इस पर कमल हासन ने कहा, ‘मुझे लगा कि आज जो हो रहा है, उसके बारे में बोलना मेरा फर्ज है। मेरे पास आपके दादा जी की एक किताब है। जब मैंने उसे पलटा तो मुझे समझ आया कि ये जो 2800 किलोमीटर की यात्रा आपने की है ये आपके लिए कुछ भी नहीं है। आप आंसुओं और खून से भरे हुए राह पर चल रहे हैं। गर मैं आपके साथ नहीं चलता तो यह उचित नहीं होता।’

कमल हासन ने आगे कहा कि, ‘मेरे पिता एक कांग्रेसी थे, लेकिन जब मैं युवा था तो मैं गांधीजी का आलोचक था। मेरे पिताजी केवल इतना कहते थे कि इतिहास को पढ़ो। तुम आज को देखकर बोल रहे हो। वो वकील थे, लेकिन फिर भी इस मुद्दे पर उन्होंने मुझसे बहस नहीं की। 24-25 साल की उम्र में मैंने खुद गांधीजी को जाना। और इतने सालों में मैं उनका फैन बन गया।’

कमल हासन ने कहा कि, ‘मैंने अपनी गलती सुधारने के लिए और गांधीजी को सॉरी बोलने के लिए हे राम बनाई। इसमें मैं एक हत्यारा था, जो गांधीजी को मारना चाहता है। लेकिन जैसे-जैसे वो उस इंसान के करीब जाता है, वो बदल जाता है। हां, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है और कोई दूसरा उनकी हत्या कर देता है। यही उस फिल्म की कहानी है। यह मेरा तरीका था, मेरे बापू से क्षमा मांगने का। मुझे इस पूरे अपराध की जिम्मेदारी लेनी थी, इसमें वह भी शामिल है, जो आपके परिवार के साथ हुआ। मुझे लगता है कि आलोचना का सबसे भद्दा स्वरूप हत्या ही है। ये घृणित है। ये केवल कायर लोग ही कर सकते हैं।’

इस दौरान राहुल गांधी ने कमल हासन को एक पानी पीते हुए टाइगर का फोटो गिफ्ट किया, जिसे प्रियंका गांधी के बेटे रिहान ने क्लिक किया था। उन्होंने कमल से कहा- ‘यह फोटो जीवन में आपका नजरिया और एटिड्यूड दिखाता है। यह तस्वीर बताती है कि आप एक महान भारतीय और चैंपियन हैं।’ बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने कहा, ‘चीनी हमसे कह रहे हैं कि आप सावधान रहिए। आप जो कर रहे हैं, उस पर हमारी नजर है। सावधान रहिए नहीं तो हम आपकी जियोग्राफी बदल देंगे। हम अरुणाचल में घुसेंगे, हम लद्दाख में दाखिल होंगे। चीन इसी तरह के रवैये के लिए प्लेटफॉर्म तैयार कर रहा है।’

राहुल ने कहा कि 21वीं सदी में भारत को सुरक्षा के तौर पर बेहद मजबूत होना है। यही वह मोर्चा है, जहां हमारी सरकार का अनुमान पूरी तरह गलत साबित हुआ। हम लगातार सुन रहे हैं कि बॉर्डर पर क्या हो रहा है। वास्तविकता यह है कि चीन ने हमारा 2000 किलोमीटर इलाका हथिया लिया है। सेना साफ-साफ बोल रही है कि वो हमारी जमीन पर बैठे हुए हैं और हमारे प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि कोई नहीं आया। 21वीं सदी की सबसे जरूरी चीज यह है कि अंदरूनी एकजुटता हो। देश में शांति और सौहार्द्र हो और देश के पास एक विजन हो। चीनियों को पता है कि हम अपने अंदरूनी मामलों में उलझे हैं।’

About Author