February 29, 2024

लाड़ली बहनों के रोजाना 29 बच्चे हो रहे हैं गुम, लेकिन शिवराज मामा बेफिक्र हो रहे हैं घूम: विभा पटेल

लोकसभा में स्मृति ने माना-पांच साल में देशभर से 2,75,125 बच्चे गायब हुए

भोपाल – मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष विभा पटेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिवराज सिंह चौहान सुबह-शाम खुद को मासूम बच्चों-बच्चियों के मामा बताते हुए थकते नहीं है। लेकिन उनके कार्यकाल का एक चेहरा अत्यंत स्याह है, ये शर्मनाक तथ्य हैं। ​शिवराज सिंह चौहान सरकार की संवेदनशील सरकार की कलई खोलता है। जी हां ये सच है। मध्यप्रदेश में रोजाना 29 बच्चे लापता हो रहे हैं। इनमें से अधिकतर की उम्र 12 से 18 साल है। गुम होने वाले ज्यादातर बच्चों में लड़कियां अधिक है। यह भयावह स्थि​ति भी तब है जबकि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार महिला और बाल अपराध रोकने के लिए लगातार अभियान चलाने का दावा रही है। यह खुलासा भी चाइल्ड राइट्स आफ यू (क्राई) नामक एनजीओ के कारण हुआ है। इसने आरटीआई के माध्यम से लापता बच्चों के बारे में जानकारी जुटाई तो चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। यह मध्यप्रदेश में बच्चों-बच्चियों की सुरक्षा की पोल खोल रहा है और यह भी साबित कर रहा है कि राज्य के मुख्यमंत्री केवल भांजे-भांजियों को गुमराह करने का प्रयास करते हैं, जबकि जमीनी हकीकत कुछ और है।
श्रीमती पटेल ने कहा कि मध्यप्रदेश से रोजाना 29 बच्चों का लापता होना, शिवराज सरकार के अभियान पर सवाल भी खड़े करता है। सिर्फ इतना ही नहीं, कोरोना काल में भी मध्यप्रदेश में लगातार नाबालिग बच्चे गायब हुए हैं। इंदौर गुमशुदगी के मामले में नंबर वन पर जबकि भोपाल, धार, जबलपुर, रीवा में भी बच्चों के लापता होने के ज्यादा मामले सामने आने की जानकारी हैं।
​विभा पटेल ने कहा कि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने हाल ही में लोकसभा में जो आंकड़े पेश किए हैं, उनके अनुसार वर्ष 2018 से जून 2

About Author