April 21, 2024

टूटे आशियाने, खुले आसमां के नीचे भर रहे पेट

भोपाल की भदभदा बस्ती में 268 घरों पर चले बुलडोजर, बिजली-पानी के कनेक्शन काटे

भोपाल – भोपाल की भदभदा झुग्गी बस्ती पर 3 दिन में करीब 268 घरों पर बुलडोजर चल चुके हैं। अब 118 घर और बचे हैं, जिन्हें शनिवार को हटाया जाएगा। 500 से ज्यादा पुलिसकर्मियों के साये में चल रही कार्रवाई के चलते 1 किलोमीटर दूर बैरिकेडिंग करके रास्ता रोक दिया गया है। वहीं, बिजली और पानी के कनेक्शन भी काटे गए हैं। इधर, वर्षों से बस्ती में रह रहे लोग अब अपने टूटे आशियानों पर ही खुले आसमान के नीचे पेट भर रहे हैं।
घर टूटने से लोग रुआंसे हैं। शादाब खान ने बताया, वे 50-60 साल से यहां रह रहे थे। बच्चों की शादियां यहीं हुई। कभी सोचा नहीं था कि घर टूट जाएगा और यहां से दूर जाना पड़ेगा। शादाब के परिवार को मुआवजे के रूप में एक लाख रुपए की राशि का चेक मिला है। घर जब टूटा, तब पूरा परिवार यही पर था। शादाब की तरह ही अन्य परिवार ने भी सामान की शिफ्टिंग की है।
झुग्गी बस्ती भदभदा पर बुलडोजर एक्शन के खिलाफ कांग्रेस मैदान में कूद गई है। कांग्रेसियों ने मानवाधिकार आयोग को लेटर भी लिखा है। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा- 10वीं-12वीं की परीक्षा चल रही हैं। इस बीच घरों पर बुलडोजर चला दिया। लोगों की कनपटी पर बंदूक रखकर घर खाली करने के लिए सहमति ली जा रही है। पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि ‘बगैर नोटिस के बिजली-पानी कनेक्शन काट दिए। लोगों को सामान नहीं निकालने दिया गया। वहां खाने-पीने की व्यवस्था नहीं है। बाहर से लोग ले जा रहे हैं, तो जाने नहीं दिया जा रहा। ऐसा लग रहा है कि युद्ध की स्थिति हो गई है, जिसमें सब तोड़फोड़ देते हैं।’
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने 386 घरों को हटाने के आदेश दिए थे। इसके चलते तीन दिन से कार्रवाई चल रही है। कोई हंगामा न हो, इसके लिए पुलिस ने बस्ती से 1 किलोमीटर पहले बैरिकेडिंग कर रास्ता रोक रखा है। पुलिस के 500 जवान तैनात हैं। घरों को तोड़ने के लिए 10 JCB लगाई गई हैं। यही कारण है कि बड़ी कार्रवाई बिना किसी हंगामे के हो रही है।

About Author