April 21, 2024

महिला की बाथरूम में हुई डिलीवरी, मृत बच्चा देख परिजनों ने देवास जिला अस्पताल में किया हंगामा

देवास – देवास जिला अस्पताल में डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कुछ परिजनों ने हंगामा कर दिया। मामला सोमवार शाम का है जब जिला अस्पताल में एक प्रसूता की बाथरूम में डिलीवरी हो गई। बच्चा मृत पैदा हुआ तो महिला के परिजनों ने जिला अस्पताल में देर रात हंगामा कर दिया और जिला अस्पताल के डॉक्टरों पर आरोप लगाते हुए बताया कि महिला को सोमवार के दिन दोपहर बाद प्रसूति के लिए भर्ती करवाया गया था। लेकिन यहां के डॉक्टरों ने प्रसव होने में एक माह की देरी बता दी। बता दें कि एक सप्ताह में ऐसा दूसरा मामला है।
दरअसल, सोमवार दोपहर को मनीषा पति कृष्णा निवासी राऊखेड़ी सेंटर पाईंट जिला इंदौर को दूसरी डिलीवरी के लिए भर्ती करवाया गया था। शाम 6.45 बजे महिला बाथरुम गई जहां बच्चे की डिलीवरी हो गई। स्टाफ ने जब बच्चे को चेक किया तो उसकी मौत हो चुकी थी। उसके बाद पिता सहित उसके परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। पिता परिजनों के साथ मृत नवजात को लेकर जिला अस्पताल के मुख्य गेट पर धरने पर बैठ गया और जिला अस्पताल के लापरवाही करने पर ड्यूटी डॉक्टर और स्टाफ के निलंबन की मांग करने लगा।

कार्रवाई के आश्वासन पर माने परिजन

सूचना मिलने के बाद सीएसपी दिशेष अग्रवाल व तहसीलदार सपना शर्मा जिला अस्पताल पहुंची और परिजनों को लापरवाही करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। उसके बाद परिजन शांत हुए और धरना खत्म किया। मामले में तहसीलदार सपना शर्मा ने बताया कि बच्चों के परिजनों ने आवेदन देने की बात कही है। समिति के माध्यम से मामले की जांच करवाई जाएगी।

एक सप्ताह में दूसरा ऐसा मामला

बता दें कि परिजनों के हंगामा करने का यह एक सप्ताह में दूसरा मामला है। तीन पहले चाणक्यपुरी निवासी एक महिला ने जिला अस्पताल में स्वस्थ नवजात को जन्म दिया था। सुबह तक चिकित्सकों व नर्स ने उसे आईसीयू में रखा और सुबह परिजनों नवजात को इंदौर रेफर कर दिया। लेकिन इंदौर में नवजात की मौत हो गई। परिजनों ने उस दौरान भी हंगामा करते हुए आरोप लगाए। मामले में परिजनों ने आरएमओ को एक शिकायती आवेदन दिया है जिसमें मामले की जांच करने की मांग की गई है।

About Author