April 21, 2024

राजधानी में ये हाल, मेंटेनेंस में फॉल्ट… न ट्रेंड स्टाफ, न पूरे उपकरण

भोपाल – दीये की रोशनी में पढ़ाई कर रही ये बच्ची है ओजस्विनी चौधरी। 5वीं में पढ़ती हैं। जिस पवन होम्स कॉलोनी में ये रहती हैं वहां 28 घंटे बाद सप्लाई बहाल हो सकी।
मंगलवार शाम चली चंद मिनटों की आंधी ने बिजली कंपनी के मेंटेनेंस की हकीकत उजागर कर दी। एयरपोर्ट रोड की दो कॉलोनियां, पवन होम्स और भारती एस्टेट तो ऐसी रहीं जिनमें अगले दिन रात में यानी 28 घंटे बाद सप्लाई बहाल हो सकी। शहर में 12 कॉलोनी-मोहल्ले ऐसे रहे जहां रातभर सप्लाई बहाल नहीं हो सकी। 29 कॉलोनियों में करीब 6 घंटे गुल रहने के बाद आधीरात में लाइट आई।
इन दिनों सीबीएसई की 10वीं समेत कई कक्षाओं की परीक्षाएं चल रही हैं। इस बीच लंबे समय तक बिजली गुल होने से इन 42 कॉलोनियों में करीब 65 हजार की आबादी परेशान होती रही। बुधवार शाम तक 24 घंटे में 4450 शिकायतें कॉल सेंटर में पहुंची। चैटबोट पर 2300 कम्प्लेंट्स दर्ज हुईं।

परेशानी ऐसी-ऐसी.. कई बार बिजली कॉल सेंटर पर नहीं लगा कॉल, अमला भी नहीं आया

केस 1 – मोबाइल की फ्लैश लाइट में पढ़ाई करनी पड़ी…

पंजाबी बाग की सिमरन रेसीडेंसी में रहने वाली संचिता अग्रवाल सीबीएसई दसवीं की छात्रा हैं। परीक्षाएं चल रही हैं। मंगलवार शाम 4 बजे बिजली गुल हो गई। वे बताती हैं गनीमत रही कि मोबाइल की बैटरी चार्ज थी। मोबाइल की फ्लैश लाइट में पढ़ाई करनी पड़ी।

केस 2 – शाम को गई लाइट साढ़े सात घंटे बाद आई…

अवधपुरी बीडीए रोड स्थित कॉलोनी सिद्धांत पैलेस की रहवासी संगीता माथन ने बताया- शाम को गई लाइट करीब साढ़े 7 घंटे बाद रात 11:30 बजे आई। घर पर अचानक मेहमान आ गए थे। मेहमानों को मोमबत्ती जलाकर खाना खिलाना पड़ा।

एक्सपर्ट व्यू- मेंटेनेंस के लिए मिली आधी राशि भी खर्च नहीं हुई

ट्रेंड स्टाफ से मेंटेनेंस नहीं कराया जाता। रेगुलर स्टाफ की भी कमी है। इसी कारण तय मापदंडों पर मेंटेनेंस नहीं होता। जो जरूरी उपकरण हैं, उनकी खरीदी भी नहीं करते। पुराने घिसे-पिटे इंस्ट्रूमेंट ही लगा दिए जाते हैं। यही वजह है कि सालभर में मेंटेनेंस के लिए मध्य क्षेत्र कंपनी को 326 करोड़ रुपए मिले थे, लेकिन सिर्फ 120 करोड़ ही खर्च कर पाए। -राजेंद्र अग्रवाल, रिटा. एडि. चीफ इंजीनियर, बिजली कंपनी

यहां ज्यादा दिक्कत

पवन होम्स, भारती एस्टेट, सांई एकता धाम, राज नगर विशाल एस्टेट, गोकुल नगर, विश्वना​थ कॉलोनी, बड़वई, पलासी, अभिनव होम्स, प्रियांशी हाईट्स, कमलेश नगर, चांदबड़, पंजाबी बाग, एयरपोर्ट रोड।

About Author