November 29, 2022

चीफ जस्टिस एनवी रमना आज हो रहे हैं सेवानिवृत्त, बोले- दिल्ली HC का अनुभव सुप्रीम कोर्ट में आया काम

नई दिल्ली- चीफ जस्टिस एनवी रमना आज अपने पद से सेवानिवृत्त हो रहे हैं. गुरुवार को विदाई समारोह में मुख्य न्यायाधीश (CJI) एनवी रमना ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम (Supreme Court Collegium) ने उनके कार्यकाल के दौरान कई हाईकोर्ट (High Courts) में 224 जजों को सफलतापूर्वक नियुक्त किया गया. साथ ही दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से संबंधित लगभग सभी नामों को मंजूरी दे दी गई. उम्मीद है कि केंद्र द्वारा भी इन सिफारिशों को मंजूरी दे दी जाएगी.

चीफ जस्टिस ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि वह कानूनी बिरादरी की अपेक्षाओं पर खरे उतरे. निवर्तमान CJI ने दिल्ली हाईकोर्ट बार एसोसिएशन द्वारा आयोजित किए गए फेयरवेल कार्यक्रम में कहा, “मुझे लगता है कि मैं उस उम्मीद पर खरा उतरा जो आपने मुझसे की थी. मैंने मुख्य न्यायाधीश के रूप में अपने कर्तव्यों का हर संभव तरीके से निर्वहन किया. मैंने दो मुद्दों को उठाया है, आप सभी जानते हैं, बुनियादी ढांचा और न्यायाधीशों की नियुक्ति. धन्यवाद सुप्रीम कोर्ट और कॉलेजियम में जजों द्वारा दिए गए समर्थन से, हमने हाईकोर्टों में लगभग 224 न्यायाधीशों को सफलतापूर्वक नियुक्त किया.”

दिल्ली HC में जजों की नियुक्ति को लेकर CJI ने क्या कहा
सितंबर 2013 से फरवरी 2014 तक वह दिल्ली उच्च न्यायाल के मुख्य न्यायाधीश भी रहे. वहीं CJI रमना ने दिल्ली हाईकोर्ट के जजों की नियुक्ति को लेकर कहा, सुप्रीम कोर्ट के जज न्यायमूर्ति संजय किशन कौल से “बहुत अनुनय” किया गया था और कहा, “मुझे लगता है कि अब हमने एक या दो नामों को छोड़कर लगभग सब कुछ साफ कर दिया है. मुझे उम्मीद है कि सरकार उन नामों को भी साफ कर देगी.”

दिल्ली जाने को लेकर दी गई थी चेतावनी-CJI
CJI ने कहा, “मुझे कभी भी किसी हड़ताल या किसी धरने या किसी भी चीज़ का सामना करने का अवसर नहीं मिला. यह सबसे बड़ी उपलब्धि है क्योंकि उन्होंने मुझे पहले चेतावनी दी थी कि आप दिल्ली जा रहे हैं, आपको धरना और हड़ताल की तैयारी करनी चाहिए.लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ.”

भारत के मुख्य न्यायाधीश ने ये भी कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधिश के अनुभव ने उन्हें सुप्रीम कोर्ट में भी चीफ जस्टिस के तौर पर काम करने में मदद की.