November 28, 2022

मध्यप्रदेश में दिव्यांगजनों ने निकाली स्वाभिमान यात्रा, घुटनों से रिसता रहा खून

गुना- मध्य प्रदेश के गुना जिले से विचलित करने वाली तस्वीरें आ रही है। यहां असहाय दिव्यांगजन स्वाभिमान यात्रा पर निकले हैं। आज यात्रा का तीसरा दिन है। दिव्यांगजन जो चलने में असमर्थ हैं, वे कंक्रीट सड़क पर शरीर को घसीटते हुए आगे बढ़ रहे हैं। घुटनों से खून रिस रहा है, लेकिन आंखों में आसूं नहीं हैं। आंसू सुख चुके हैं। असहाय चेहरे पर दर्द की असंख्य रेखाएं परिलक्षित हो रही हैं। लेकिन स्वाभिमान यात्रा निरंतर जारी है।

दिव्यांगजनों की यात्रा और पीड़ा दोनों बढ़ती जा रही है। लेकिन उन्होंने ठान लिया है कि वे स्वाभिमान के साथ समझौता नहीं करेंगे। चल-फिर नहीं सकते, खड़े नहीं हो सकते… लेकिन एकजुट हैं, अपनी मांगों को लेकर खड़े हैं, हाथों में चप्पल पहने सड़क पर चल रहे हैं। टीवी मीडिया के कैमरों और अखबारों की हेडलाइन से काफी दूर हैं। सरकार भी शायद हेडलाइन मैनेजमेंट में व्यस्त है, इसलिए उनकी इस पीड़ा को महसूस नहीं कर पा रही।

राघौगढ़ से गुना मार्च के तीसरे दिन स्थानीय कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह दिव्यांगों के पास पहुंचे। लेकिन विपक्षी दल के विधायक होने के नाते वे भी असहाय नजर आए। हाथ जोड़कर यात्रा स्थगित करने का आग्रह किया। साथ बैठकर आश्वासन दिया कि विधानसभा से लेकर संसद तक कांग्रेस आपकी मांगों को पुरजोर तरीके से उठाएगी। निजी स्तर पर भी जो मदद संभव है वह करने के लिए उन्होंने प्रतिबद्धता जताई। उन्होंने कहा यात्रा स्थगित कर दीजिए। लेकिन दिव्यांगों ने कहा कि हमारी मांग सरकार से है, हम सरकार के किसी मंत्री अथवा प्रतिनिधि से ही बात करेंगे।

कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह दिव्यांग साथियों के लिए खाना लेकर पहुंचे थे। उन्हें खाना परोसा फिर साथ बैठकर भोजन भी किया। स्वाभिमान मार्च कर रहे दिव्यांगों का कहना है उनकी सिर्फ मांगें नहीं है, बल्कि उनकी पीड़ा है, उनकी तकलीफ है, उनका दर्द है। जिसे शासन सुनकर भी अनसुना कर रहा है।दिव्यांगजनों ने राज्य सरकार के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए सवाल किया है कि जब विधायक, मंत्रियों के भत्ते बढ़ सकते हैं तो दिव्यांगजनों के पेंशन क्यों नहीं बढ़ सकते है? हमें मात्र 600 रुपए की पेंशन लेने के लिए 400 रुपए किराया लगाकर बैंकों तक जाना पड़ रहा है।

इस यात्रा में 100 से अधिक दिव्यांग शामिल हैं।राघौगढ़ से शुरु हुई यह यात्रा 17 नवंबर को गुना पहुंचेगी। यहां वे अपनी 16 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन कलेक्टर को सौंपेंगे। पदयात्रा में गुना सहित 20 जिलों के दिव्यांग शामिल हो रहे हैं। यात्रा के दौरान राष्ट्रभक्ति से प्रेरित गीत वातावरण में गुंजयामान हो रहे हैं। साथ ही भारत माता की जय और वंदे मातरम् का जयघोष भी हो रहा है। रुक-रुक कर दिव्यांग साथी अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी भी कर रहे हैं।