December 10, 2022

विधानसभा सत्र से पहले गरमाई राजनीति, सज्जन सिंह ने दी सीएम शिवराज को सलाह

नई दिल्ली- दिसंबर महीने की 19 से 23 तारीख तक विधानसभा (MP Assembly) का शीतकालीन सत्र (Winter Session) चलेगा. इसके लिए विधानसभा सचिवालय ने अधिसूचना जारी कर दी है. सत्र की सूचना जारी होते ही मध्य प्रदेश की सियासत में उबाल आने लगा है. भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) के नेताओं की बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh) ने ट्वीट कर राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा कि सरकार सत्र चलाने से डरती है. हालांकि, उनके इस ट्वीट का जवाब भी प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने दिया है. उन्होंने सज्जन सिंह के बयान का पलटवार करते हुए कहका कि कांग्रेसी चर्चा की जगह हंगामा करते हैं.

‘करो महीने दो महीने का सेशन’
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने ट्वीट कर लिखा कि पांच दिन के विधानसभा सत्र में किसकी बात सुनोगे शिवराज? युवाओं की नौकरी की बात करेंगे कि किसानों की? पूर्व मंत्री वर्मा ने लिखा कि विधानसभा चलाने से क्यों डर लगता है? करो महीने दो महीने का सेशन और दो जनता के सारे जवाब.

‘कांग्रेसी चर्चा नहीं हंगामा करते हैं’
कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के ट्वीट का जवाब देते हुए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस के लोग सत्र में चर्चा नहीं करते. चर्चा के वक्त हंगामा करते हैं, जहां हंगामा करना चाहिए वहां चर्चा करते हैं. यह अतिमहत्वपूर्ण सत्र है. इसमें जनता के मुद्दे विधि सम्मत तरीके से उठाना चाहिए.

सत्र में होंगी पांच बैठकें
संसदीय कार्यमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा के मुताबिक मध्य प्रदेश विधानसभा सत्र 19 से 23 दिसंबर तक चलेगा. एक सप्ताह तक चलने वाले इस सत्र में पांच बैठकें होंगी. 21 नवंबर से प्रश्न लगना शुरू हो जाएंगे. द्वितीय अनुपूरक बजट भी इस सत्र में आएगा. विधानसभा के सात दिवसीय सत्र में सदस्यगण जनहित के मुद्दे उठा सकेंगे.