December 7, 2022

भारत V/s इंग्लैंड- लॉर्ड्स में दोहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बन सकते हैं केएल राहुल

2014 में जब भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स टेस्ट खेला गया था, तब टीम इंडिया 95 रनों से जीत दर्ज करने में सफल रही थी। मैच की चौथी पारी में अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए मेजबान टीम के सात खिलाड़ियों को आउट कर मैदान से बाहर का रास्ता दिखया था। इस टेस्ट मैच में भी कप्तान विराट कोहली को इशांत से वैसे ही शानदार प्रदर्शन की आस रहेगी। इशांत मौजूदा समय में बहुत

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला लॉर्ड्स में खेला जा रहा है। जहां दूसरे दिन टीम इंडिया का लक्ष्य बड़ा स्कोर बनाना और मुकाबले में अपना दावा मजबूत करने पर रहेगा। पहला दिन पूरी तरह से टीम इंडिया के नाम रहा था। भारत ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन विकेट के नुकसान पर 276 रन बनाए। टीम के लिए सलामी बल्लेबाज केएल राहुल 127 और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे 1 के स्कोर पर नाबाद लौटे।

राहुल के पास इतिहास बनाने का मौका

पहले दिन राहुल ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए अपने टेस्ट करियर का छठा शतक पूरा किया था। साथ ही एशिया के बाहर वे भारत के लिए सर्वाधिक शतक लगाने वाले तीसरे सलामी बल्लेबाज भी बने थे। राहुल फिलहाल 127 रनों के स्कोर पर नाबाद है और टीम मैनेजमेंट और फैंस द्वारा उनसे दोहरे शतक की उम्मीद जताई जा रही है।

केएल राहुल आज अगर दोहरा शतक बनाने में सफल रहे, तो लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर दोहरा शतक लगाने वाले वह टीम इंडिया के पहले खिलाड़ी बन जाएंगे। फिलहाल लॉर्ड्स में सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी खेलने का रिकॉर्ड भारत की ओर से वीनू मांकड के नाम पर दर्ज है। मांकड ने 1952 में इंग्लैंड के खिलाफ 184 रनों की पारी खेली थी।

नजरें बड़ा स्कोर बनाने पर

पहले दिन के खेल के बाद लॉर्ड्स टेस्ट में फिलहाल भारत की स्थिति अच्छी है। टीम इंडिया को अगर अपने शानदार खेल को जारी रखना है, तो दूसरे दिन टीम के बल्लेबाजों को स्कोरबोर्ड पर एक बड़ा स्कोर लगाना होगा। राहुल के अलावा अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा भी अच्छी पारियां खेल टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाना चाहेंगे। रहाणे लंबे समय से फॉर्म में नहीं हैं, लेकिन आज उनके पास बिना दबाव के बल्लेबाजी कर फॉर्म हासिल करने का बढ़िया मौका है। साथ ही पंत और जडेजा भी विस्फोटक पारियां खेल मेजबान टीम को पूरी तरह से मुकाबले से बाहर करने का काम कर सकते हैं।

इशांत दोहराएंगे 2014 का चमत्कार

2014 में जब भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स टेस्ट खेला गया था, तब टीम इंडिया 95 रनों से जीत दर्ज करने में सफल रही थी। मैच की चौथी पारी में अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए मेजबान टीम के सात खिलाड़ियों को आउट कर मैदान से बाहर का रास्ता दिखया था। इस टेस्ट मैच में भी कप्तान विराट कोहली को इशांत से वैसे ही शानदार प्रदर्शन की आस रहेगी। इशांत मौजूदा समय में बहुत ही बढ़िया फॉर्म में हैं और उनके पास इंग्लैंड में खेलने का अच्छा खासा अनुभव भी है जो टीम के काम आ सकता है।