February 3, 2023

हिंदुस्तान डर और हिंसा के खिलाफ हमेशा निडर खड़ा रहा है और आगे भी खड़ा रहेगा- राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने 26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतकंवादी हमलों में जान गंवाने वाले लोगों को शनिवार को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि भारत हिंसा के खिलाफ निडर होकर खड़ा रहेगा। गांधी ने ट्वीट किया कि भारत की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले सैनिक देश का गौरव हैं। मुंबई 26/11 के आतंकवादी हमले में शहीद हुए वीर जवानों और आम नागरिकों को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। उन्होंने कहा, हिंदुस्तान डर और हिंसा के खिलाफ हमेशा निडर खड़ा रहा है और आगे भी खड़ा रहेगा।

उल्लेखनीय है कि 10 पाकिस्तानी आतंकवादी 26 नवंबर, 2008 को समुद्री मार्ग से मुंबई पहुंचे थे और उनके हमले में 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 166 मारे गए थे तथा कई अन्य लोग घायल हुए थे। इसके अलावा राहुल गांधी ने कहा कि जब तक संविधान के हर शब्द का पालन नहीं किया जाता, वह एकता की राह पर चलते रहेंगे। वहीं पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि संविधान जीने का एक जरिया है और इसकी भावना हमेशा समान रहती है। संविधान सभा ने 1949 में आज ही के दिन भारत का संविधान अपनाया था, इसलिए 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

गांधी ने ट्वीट किया, जब तक हमारे संविधान के हर शब्द का पालन नहीं किया जाता और हर नागरिक की निष्पक्षता एवं न्याय के जरिए रक्षा नहीं की जाती, मैं इस मार्ग पर चलता रहूंगा। खरगे ने बाबासाहेब आंबेडकर के शब्दों को याद करते हुए कहा, संविधान केवल वकीलों का कोई दस्तावेज नहीं है, बल्कि यह जीने का एक साधन है और इसकी भावना सदैव समान रहती है। कांग्रेस प्रमुख ने ट्वीट किया, संविधान सभा के सभी महान नेताओं के बहुमूल्य योगदान को हम याद करते हैं। सभी देशवासियों को संविधान दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। देश में 2015 से 26 नवंबर को ‘संविधान दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। इससे पहले इस दिन को ‘कानून दिवस’ के तौर पर मनाया जाता था।