January 29, 2023

जयवर्धन सिंह का सिंधिया पर तंज़ कहा – उपचुनाव में गद्दारों को सबक सिखाएगी जनता

  • जयवर्धन ने सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा कि ग्वालियर चंबल अंचल में 76 हजार से ज्यादा कांग्रेसी भाजपा में शामिल हुए, यह आंकड़ा फर्जी है। महज एक जयचंद विधायक और उनके कुछ लोग गए हैं।

ग्वालियर में कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी के सदस्यता अभियान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। विधानसभा के पूर्व स्पीकर एनपी प्रजापति, पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह, जयवर्धन सिंह, पीसी शर्मा और सज्जन सिंह वर्मा ने ग्वालियर में संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी के सदस्यता अभियान को फ्लॉप करार दिया है। सभी नेताओं ने एक सुर में ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा है।

पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि सिंधिया आरोप लगाते हैं कि कमलनाथ सरकार ने कर्ज माफ नहीं किया, जबकि सिंधिया खुद 3 मार्च को शिवपूरी में कर्ज माफी के प्रमाण पत्र बांट रहे थे। कमलनाथ सरकार ने 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली दी थी, जबकि अब 5 महीने में बिजली बिलों का क्या हाल है यह सिंधिया खुद जानते हैं।

जयवर्धन ने सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा कि ग्वालियर चंबल अंचल में 76 हजार से ज्यादा कांग्रेसी भाजपा में शामिल हुए। यह आंकड़ा फर्जी है। महज एक जयचंद विधायक और उनके कुछ लोग गए हैं। जयवर्धन सिंह ने कहा कि अलीबाबा चालीस चोर अब भाजपा में जा चुके हैं। जो निष्ठावान कार्यकर्ता हैं, वह आज भी मौजूद हैं।

जयवर्धन ने कहा कि जनता जानती है 35- 35 करोड़ रुपए में जो विधायक बिके हैं। जिन्होंने जनता को धोखा दिया है, वोट को बेचा है अब ऐसे गद्दारों को सबक सिखाने के लिए जनता तैयार बैठी है। उपचुनाव में गद्दारों को सजा मिलेगी।

कमलनाथ सरकार ने ग्वालियर चंबल अंचल के लिए भरपूर रुपए दिए

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा है। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 3 दिन के भारतीय जनता पार्टी सदस्यता अभियान के दौरान यह मुद्दा उठाया कि कमलनाथ सरकार में विकास नहीं हुआ। इसी वजह से उन्होंने भी कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामा है।

सज्जन वर्मा ने कहा कमलनाथ सरकार ने ग्वालियर चंबल अंचल के लिए भरपूर रुपए दिए. सिंधिया झूठ बोल रहे हैं। सज्जन के मुताबिक, विकास सिर्फ सिंधिया महाराज का हुआ है। महाराज ने तो ल मंदिर की जमीन नहीं छोड़ी और तो और कुत्ते की समाधि पर भी कब्जा कर लिया।