November 28, 2022

दुमका हत्याकांड में CM सोरेन ने कही यह बात, परिवार को 10 लाख की सहायता

नई दिल्ली- झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने अंकिता के निधन पर श्रद्धांजलि दी है. इसके अलावा उन्होंने 10 लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है.इसके अलावा सीएम ने कहा है कि DGP को भी इस मामले में रिपोर्ट देने के लिए कहा हगया है.

सीएम ने एक ट्वीट में कहा- “अंकिता बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि. अंकिता के परिजनों को रु 10 लाख की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फ़ास्ट ट्रैक से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है. पुलिस महानिदेशक को भी उक्त मामले में एडीजी रैंक अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने हेतु निर्देश दिया है.”

नियमों को और कड़ा करने की जरूरत
इससे पहले सीएम ने कहा- समाज में कई तरह की कुरीतियां देखने को मिल रही हैं. यह घटना दिल दहला देने वाली है और कानून अपना काम कर रहा है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. हमारी कोशिश है कि उसे जल्द से जल्द सजा मिले. उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं के लिए समाज में कोई जगह नहीं है. ऐसी घटनाओं में सज़ा देने वाले प्रावधानों को और कड़ा करने की जरूरत है.

बता दें दुमका में शाहरुख नामक एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया जिससे उसकी मौत हो गई. घटना के बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण होने के बाद प्रशासन ने वहां धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी है. दुमका के पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने बताया कि घटना में 90 फीसदी झुलस गयी युवती को इलाज के लिए रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार तड़के ढाई बजे उसकी मौत हो गयी.

दुमका के एसडीओ महेश्वर महतो ने बताया कि युवती के मरने की सूचना दुमका पहुंचने पर वहां स्थिति तनावपूर्ण हो गई, वहां दोषी को फांसी देने की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल ने जमकर नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने बताया कि विरोध प्रदर्शनों के बाद हालात को ध्यान में रखते हुए दुमका शहर में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है.